Wish I could burn the feelings too!

Feelings don’t make sense… Feelings don’t have to make sense But, they make home deep inside and build a fence. Sometimes they make us soft, sometimes cruel and sometimes fill us with rage. Putting shackles around us they bind us in a cage. We walk on fire with tears in our eyes, but smiling gaily…

नाम: असिफा; छोटी सी थी मैं, महज आठ साल की…

नाम: असिफा; उम्र: आठ साल; मज़हब: मुस्लिम; मौत का कारण? छोटी सी थी मैं, महज आठ साल की। अम्मी के चेहरे की मुस्कान और अब्बू की जान थी। रोज़ की तरह सुबह हुई, रोज़ की तरह चेहरे पर मुस्कान लिए अंगड़ाइयाँ लेते बिस्तर से उठी थी। तैयार होकर, अम्मी से गले लग कर बकरियाँ चराने…

सुकून का सफरनामा

सुकून का सफरनामा, बड़ी-बड़ी इमारतें-एक छोटा सा घर सुकून ढूंढ़ने निकली घर से , दिल में उम्मीद लिए और जेब में कुछ रूपए लिए। बहुत से बड़े-बड़े शहर देखे, बड़ी-बड़ी इमारतों में भी रही। बदलते मौसम देखे, बदलते लोग देखे, समय गवाया और खुद को हताश पाया। लोगों के आशियानें तो ऊँचे थे, दिखावे उससे भी ऊँचे थे,…